Franchise Enquiry : +91-7718805259 / +91-9619923910 / 022-61748282

सही मायनें में शिक्षा का अर्थ क्या है ? कभी सोचा है ?



genius-img

By Ms.Pooja Chavariya
16/06/2017

आज के बदलते युग ने शिक्षा को सीमित- सा कर दिया है या यह कह सकते है कि शिक्षा की परिभाषा ही बदल कर रख दी है | शिक्षा प्रतियोगिता बनकर रह गई है कहीं कोई हमसे आगे ना निकल जाए कहीं हम इस दौड़ में पीछे ना रह जाए | हमारा बच्चा इस प्रतियोगिता में प्रथम कैसे आएगा सभी का ध्यान इस पर आकर टिक गया है क्योंकि सभी प्रथम खिलाड़ी को महत्त्व देते है दूसरा स्थान के खिलाड़ी पर किसी का ध्यान नहीं होता | सभी अपने बच्चों को शिक्षा की प्रतियोगिता में प्रथम आना है इस लक्ष्य के साथ दौड़ में दौडा़ रहे है |

क्या यही शिक्षा का अर्थ हैं ??? नहीं यह शिक्षा का सही अर्थ नहीं हैं |

‘‘अगर किसी को एक मछली दी जाये तो वो उसका एक दिन पेट भरेगी लेकिन यदि उसे मछली पकड़ना सिखाया जाये तो वो उसका जिंदगी भर पेट भरेगी |’’

इसी तरह बदलते युग में बच्चों को सिर्फ अंकों के पीछे ना भगाकर उनकी बुद्धि के विकास पर बल दिया जाए उसे सिखने के लिए प्रेरित किया जाए उसके अंदर के कौशल का विकास करने का उचित मार्गदर्शन दिया जाए तो वो ना सिर्फ स्कूल की परीक्षा में ही सफल होगा बल्कि जीवन की परीक्षा में भी हमेशा सफल होगा |

जितना अधिक हम अपने जीवन में ज्ञान प्राप्त करते हैं, उतना ही अधिक हम अपने जीवन में वृद्धि और विकास करते हैं। अच्छे पढ़े-लिखे का मतलब केवल यह कभी नहीं होता कि प्रमाणपत्र, प्रतिष्ठित और मान्यता प्राप्त संगठन या संस्था में नौकरी प्राप्त करना |

यह हमें हमारे लिए और हम से संबंधित व्यक्तियों के लिए क्या सही है और क्या गलत है को निर्धारित करने में मदद करता है। अच्छी शिक्षा प्राप्त करने का सबसे पहला उद्देश्य अच्छे नागरिक बनना और उसके बाद व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन में सफल व्यक्ति बनना होता है। हम बिना शिक्षा के अधूरे हैं क्योंकि शिक्षा हमें सही सोचने वाला और सही निर्णय लेने वाला व्यक्ति बनाती है जिससे हमारे अंदर विभिन्न कौशलों का विकास होता है |

इस प्रतियोगी दुनिया में, शिक्षा मनुष्य की भोजन, कपड़े और आवास के बाद प्रमुख अनिवार्यता बन गयी है। शिक्षा वो विश्वसनीय शक्ति है, जो हमें बुरी सोच से दूर करके, हमें आत्मनिर्भर बनाने और नई संभावनाओं और अवसरों को प्रदान करने, समस्या निवारक बनने का अवसर प्रदान करने और उत्कृष्ट निर्णय निर्माता बनाने में मदद करती है। यह हमारे मस्तिष्क, शरीर और आत्मा के बीच में संतुलन बनाकर शान्त रखने में मदद करती है। शिक्षा की चाबी के माध्यम से एक व्यक्ति सफलता के कठिन ताले को आसानी से खोल सकता है। शिक्षा वास्तविक अर्थों में मनुष्य को जीवन जीना सिखाती है |



Read More Blogs
Our Brands
  • open minds birla school
  • shloka birla school
  • globe toters birla Preschool
  • speed birla edutech initiative
  • birla institute for teacher training